पतंजलि का खून बढ़ाने वाली मशीन Patanjali Haemogrit Vital use and Benefit

अगर आपके शरीर में खून की कमी है तो यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण हो सकता है क्योंकि इस पोस्ट में हम पतंजलि के एक नया प्रोडक्ट Patanjali Haemogrit Vital के बारे में बताएंगे जिसे खून बढ़ाने वाली मशीन कहा जा रहा है।

पतंजलि अपने प्रोडक्ट के लिए मशहूर है और अब ऐसे ऐसे दवाइयां पतंजलि की आ रही है जो अंग्रेजी दावों के ही तरह तुरंत सरदार होता है लेकिन इसके साइड इफेक्ट बिल्कुल भी नहीं होते हैं इसलिए भी आयुर्वेदिक दवाएं लोगों के बीच में तेजी से मशहूर हो रही है।

Patanjali Haemogrit Vital क्या है?

Patanjali Haemogrit Vital खून बढ़ाने वाली दवा है वैसे पतंजलि में एनीमिया के रोगियों के लिए पहले से ही दवाइयां उपलब्ध है लेकिन वो सब धीरे-धीरे असर करती थी लेकिन अब पतंजलि ने इस नए दवा का अविष्कार करके तेजी से असर करने वाली दवाइयों की लिस्ट में एक और नाम जोड़ दिया है।

Haemogrit Vital आपके शरीर में खून के स्तर को तेजी से बढ़ता है और जैसे कि ये आयुर्वेदिक दवा है इसलिए इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। कहां जा रहा है कि इस कैप्सूल का नियमित सेवन से शरीर में खून की कमी पूरा होता है यानी एनीमिया से ग्रसित लोग इस रोग से बाहर आते हैं।

ये भी पढ़ें:- Patanjali Livogrit Vital के फायदे और सेवन विधि

खून के कमी के शिकार लोग

कुछ समय पहले एक रिसर्च हुआ था जिसमें पाया गया था कि देश के 60% बच्चों में 50% महिलाओं में एवं 25 परसेंट पुरुषों में खून की कमी है यानी एनीमिया के शिकार है ये लोग। एनीमिया के शिकार वो लोग होते हैं जिनके शरीर में हीमोग्लोबिन के कमी होता है और उसी को पतंजलि का ये हीमोग्रिट वाइटल कैप्सूल पूरा करता है।

हमारे शरीर के कोने-कोने तक ऑक्सीजन का पहुंचना जरूरी है और यही काम हीमोग्लोबिन करता है अगर आपके शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होती है तो फिर ऑक्सीजन हर जगह नहीं पहुंच पाता है। और जब हमारे शरीर में ऑक्सीजन की कमी होती है तो फिर एक-एक अंग बारी-बारी से कमजोर होता चला जाता है।

हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन कितना होना चाहिए?

अगर पुरुषों की बात करें तो पुरुषों के शरीर में 13.5 ग्राम से लेकर 17 ग्राम प्रति डेसिलिटर होना चाहिए यानी अगर आपके शरीर में 13 ग्राम भी खून है तो भी ठीक है लेकिन इससे नीचे नहीं होना चाहिए और 17 से ऊपर भी नहीं होना चाहिए।

वहीं अगर महिलाओं की बात करें तो महिलाओं के शरीर में 12 ग्राम से लेकर 15.5 प्रति डेसीलिटर होना जरूरी होता है। वैसे महिलाओं के शरीर से बहुत सारा खून माहवारी के समय निकलता रहता है इसलिए भी उनको अपना शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को मेंटेन करके रखना पड़ता है।

शरीर में खून की कमी के लक्षण

अगर आपके शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होती है तो आपको हर समय थकान सा महसूस होता है और किसी भी काम में मन नहीं लगता है वैसे ये लक्षण किसी और भी बीमारी के हो सकते हैं लेकिन खून के कमी में भी ऐसा लक्षण पाया जाता है।

इसके अलावा हमारे शरीर में खून या हीमोग्लोबिन के कमी होने पर हमें चक्कर आता है एवं सांस फूलने की भी शिकायत होती है। खून के कमी के कारण ही कई बार दिल की धड़कन में भी अचानक बढ़ोतरी हो जाती है और बहुत देर बैठकर कर उठने पर चक्कर आता है या आंखों के सामने तारे टूटने जैसा दिखता है।

खून की कमी में हाथ पैर भी ठंडा पड़ा रहता है एवं चेहरा पीला पीला जैसा दिखता है और आपके बाल भी झाड़ सकते हैं एवं नाखून को देखने से पिला जैसा दिखता है एवं अपने आप टूटने लगता है।

खून के कमी में जोरो का दर्द भी हो सकता है एवं कुछ लोगों में सर का दर्द भी बना रहता है और कई बार मिट्टी खाने का भी मन करता है उपयुक्त सभी लक्षण शरीर में खून के कमी होने का सिम्टम्स हो सकते हैं।

ये भी पढ़ें:- Patanjali Nutrela Collagenprash Benefit And Use In Hindi

खून का कमी है या नहीं कैसे पता करें?

अगर आपके शरीर में खून की कमी है और इसके लक्षण दिख रहे हैं तो फिर आप किसी भी लैब में जाकर खून का जांच करवा कर यह पता कर सकते हैं कि आपके शरीर में हीमोग्लोबिन का अस्तर कितना है।

जब डॉक्टर आपका खून की जांच करते हैं तो आपका खून में पाए जाने वाले हीमोग्लोबिन की मात्रा कम पाया जाता है यानी वो व्यक्ति एनीमिया का शिकार होता है तो इस अवस्था में घबराने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है क्योंकि Patanjali Haemogrit Vital खून की कमी को ही तेजी से पूरा करने के लिए बनाया गया है।

Patanjali Haemogrit Vital कैसे खून बढ़ता है?

पतंजलि हीमोग्रिट वाइटल को पतंजलि ने अपने ज्ञान एवं वेद से प्रेरणा लेकर बहुत ही रिसर्च के साथ इसे बनाई है इस दवा को पतंजलि ने आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां एवं भस्म की सहायता से बनाई है।

हीमोग्रिट वाइटल विटल में भस्म इसलिए डाला गया है ताकि ये तुरंत असर करें और तेजी से खून बनाएं जब आप इस टैबलेट को खाना शुरू करते हैं तो आपके शरीर में यह दावा पहुंचते ही खून का निर्माण करना शुरू कर देती है।

हीमोग्रिट वाइटल में कुछ अन्य तरह के जड़ी बूटियां भी मिलाया गया है ताकि यह आपके शरीर में पहले से पड़े हुए खून की सफाई कर सके इससे होता यह है कि आपके खून में मौजूद बेकार के चीजों को यह शरीर से बाहर निकालता है।

हीमोग्रिट वाइटल में क्या-क्या डाला गया है?

  • आंवला
  • भृंगराज
  • गिलोय
  • पालक
  • Sesbania Grandiflora
  • अभ्रक भस्म
  • मंडुर भस्म
  • यशद भस्म

आंवला एवं पलक यह दोनों आयरन का बहुत ही बढ़िया स्रोत माना जाता है एवं खून के कमी के लिए भी आयरन के कमी को मेंन वजह माना जाता है क्योंकि जब हमारा शरीर हीमोग्लोबिन बनाता है तो उसके लिए आयरन की जरूरत होती है।

लेकिन सिर्फ आयरन की कमी को पूरा कर देने से ही खून नहीं बनता है बल्कि हमारे शरीर में विटामिन सी की भी आवश्यकता होती है तभी आयरन इसके साथ मिलकर खून बना पाता है।

ये भी पढ़ें:- पतंजलि अश्वशिला के फायदे जानकर चौक जाएंगे

Patanjali Haemogrit Vital Price in India

patanjali haemogrit vital

अगर हम हीमोग्रिट वाइटल के कीमत का बात करें तो इसके एक पैकेट का कीमत ₹300 अभी के समय में है एवं उसमें 60 टैबलेट होता है। जब भी आप इसे खरीदे तो इसका कीमत का पता जरूर लगा लें क्योंकि समय के साथ इसमें गिरावट या बढ़ोतरी हो सकता है।

सेवन विधि

अगर आपके शरीर में खून के कमी है और आप एनीमिया के शिकार हैं तो अपने वैध दया चिकित्सक के परामर्श के अनुसार भोजन करने के बाद दो गोली सुबह एवं शाम गुनगुने पानी से लें।

हिमोग्रिट वाइटल को नींबू के पानी के साथ सेवन करने से और भी बेहतर रिजल्ट मिलता है। साथ ही खान-पान पर भी ध्यान रखें अनाप-शनाप चीजें ना खाएं एवं हरी भरी शाक सब्जियां दूध दही का ही सेवन करें।

ये भी पढ़ें:- How cure fatty liver in Patanjali

Leave a Comment

error: Content is protected !!