पतंजलि अश्वशिला के फायदेपतंजलि अश्वशिला के फायदे

इस पोस्ट में हम जानेंगे कि पतंजलि अश्वशिला के फायदे क्या है और इसके खाने के क्या-क्या लाभ होते हैं। अभी कुछ दिन पहले पतंजलि ने अश्वशिला नाम का कैप्सूल बनाई है जिसके कई सारे फायदे होते हैं और इसे आप पतंजलि स्टोर से या ऑनलाइन Order Me App या अमेजॉन से मंगा सकते हैं।

पतंजलि के सीनियर डॉक्टर या रिसर्च करने वाले वैज्ञानिक Anurag Varshney के अनुसार पतंजलि अश्वशिला के फायदे कई सारे हैं और ये कई बीमारियों से हमारे शरीर को बचाता है क्योंकि इसमें शिलाजीत एवं अश्वगंधा का ढाई ढाई सौ एमजी का मिश्रण है एवं इस कैप्सूल को दूध के साथ खाने के लिए सलाह दिया जाता है।

इस पोस्ट को पढ़कर आप ये जान पाएंगे कि पतंजलि अश्वशिला के फायदे क्या-क्या है और शरीर में किस प्रकार के दिक्कत आने पर इस कैप्सूल को लिया जा सकता है कितना मात्रा में लिया जा सकता है और खाने के पहले या खाने के बाद इन सभी बातों का संपूर्ण जानकारी पाने के लिए इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें।

ये भी पढ़ें:- पतंजलि में है फैटी लिवर का रामबाण इलाज

पतंजलि अश्वशिला के फायदे क्या है?

पतंजलि अश्वशिला के फायदे अनेको है इस कैप्सूल में शिलाजीत एवं अश्वगंधा डाला गया है इसलिए इसका सेवन करने से यौन कमजोरी दूर होती है और शरीर को ताकत मिलता है। आजकल के युवाओं में यौनशक्ति कमजोर हो रहा है और वो इसे बढ़ाने के लिए कई तरह के अनाप-शनाप दवाएं खाते फिरते हैं जिसके वजह से फायदा होने की जगह उनको नुकसान का ही सामना करना पड़ता है।

अगर आप भी अपने ही हाथ से अपना शक्ति को क्षिण कर चुके हैं यानी हस्तमैथुन आदि गलत आदतों से आप अपने आप को कमजोर कर चुके हैं तो पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल को अपने चिकित्सक के सलाह के अनुसार सेवन करना शुरू करें।

इसके अलावा अगर आपको बार-बार थकान होता है और आपके शरीर में कमजोरी महसूस होती है तो भी आप के लिए अश्वशिला कैप्सूल दूध के साथ में फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि इसमें डला हुआ अश्वगंधा एवं शिलाजीत आपके शरीर को भरपूर ताकत उपलब्ध कराते हैं।

अगर आपको तनाव या सामान्य कमजोरी की स्थिति महसूस हो रही है तो पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल इन कमियों को दूर कर सकता है। यह कैप्सूल पतंजलि के द्वारा बनाया हुआ रिसर्च बेस्ड आयुर्वेदिक मेडिसिन है और आयुर्वेदिक दवाओं का साइड इफेक्ट भी नहीं होता है ऐसा माना गया है।

अगर किसी व्यक्ति को अस्थमा या एलर्जी का शिकायत है तो इस रोग में भी पतंजलि अश्वशिला के फायदे होता है आप अपने चिकित्सक के सलाह से इस कैप्सूल के साथ में अन्य दवाएं भी ले सकते हैं साथ ही योग एवं थेरेपी भी एक साथ रोग को चारों ओर से घेरती है।

इसके अलावा मधुमेह एवं मूत्र संबंधी विकार में भी अश्वशिला कैप्सूल काफी लाभ पहुंचाता है और हमारे शरीर को बलिष्ट बनाता है। अश्वशिला कैप्सूल में डले हुए अश्वगंधा एवं शिलाजीत दूध के साथ लेने से ये विकारों को दूर करके शरीर को ताकतवर बना देता है।

ये भी पढ़ें:- Patanjali Mint Active Plus ज्यादा खा लेने पर पचाने के लिए

यौन संबंधी विकारों को दूर करता है अश्वशिला कैप्सूल

अगर आपको यौन संबंधित शिकायत है जैसे प्रजनन क्षमता में कमी या वीर्य का पतलापन या उस में कमी तो अश्वशिला कैप्सूल का सेवन से आप अपने विकारों को दूर कर सकते हैं और शरीर को बलिष्ट बना सकते हैं।

पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल शीघ्रपतन एवं वीर्य का रिसाव में भी बहुत लाभ करता है। कई लोगों को पेशाब करने के बाद वीर्य का रिसाव होता है यानी मूत्र नली से विर्य रिस्ता रहता है ऐसे में उनको काफी कमजोरी आ जाती है इस कमी को भी अश्वशिला कैप्सूल ठीक करता है।

इस कैप्सूल के रसायन गुणं हमारे शरीर में वीर्य की कमी को पूरा करते हैं एवं उसे जीवंत करते हैं। हमारे बचपन की गलतियों के वजह से हमारे वीर्य में शुक्राणु की गुणवत्ता कम हो जाती है जिसे ये कैप्सूल बढ़ाता है और वीर्य का मात्रा भी बढ़ाने में मदद करता है।

अगर आपको अपने जीवन साथी के साथ में उत्तेजना महसूस नहीं होती है तो कई तरह के उत्तेजक दवाएं खाने से बचना चाहिए एवं अश्वशिला कैप्सूल का सेवन करके आप अपने सहपाठी के साथ में उत्तेजित होकर जीवन का आनंद ले सकते हैं साथ ही इस कैप्सूल का मधुर प्रकृति हमारे शरीर में वीर्य का पोषण करती है।

अश्वशिला कैप्सूल का सेवन करने से पुरुषों के लिंग में रक्त का दौर बराबर मात्रा में चलता है जिसके वजह से इरेक्टाइल फंक्शन अच्छी तरह से काम करता है और नपुंसकता जैसे विकारों को भी दूर करता है। यह कैप्सूल बांझपन में भी काफी लाभ पहुंचाता है।

ये भी पढ़ें:- सिर्फ एक महीने में चेहरे पर चमक आएगी करें ये काम

अश्वशिला कैप्सूल में क्या डाला गया है?

पतंजलि अश्वशिला कैप्सूल में अश्वगंधा का अर्क 200 मिलीग्राम और शिलाजीत का सूखा अर्क 200 मिलीग्राम डाला गया है। शिलाजीत एवं अश्वगंधा दोनों ही यौन विकारों को दूर करने एवं शरीर को बलिष्ट बनाने में उपयोगी माने जाते हैं।

पतंजलि शिलाजीत का कैप्सूल भी बनाती है और ड्राप भी बनाती है इसके अलावा अश्वगंधा का चूर्ण भी मिलता है लेकिन अबकी बार इन दोनों महत्वपूर्ण औषधियों को एक में मिलाकर अश्वशिला कैप्सूल बनाया गया है।

उपयोग कैसे करें

अश्वशिला को एक से दो कैप्सूल सुबह और शाम को दूध या गुनगुने पानी के साथ खाने के लिए बताया जाता है लेकिन आप इसका सेवन करने से पहले अपने वैद्य या चिकित्सक से परामर्श जरूर लें ताकि वो आपके शरीर एवं शरीर में हो रहे रोग के अनुसार ही इसका सेवन करने का विधि बता सकें।

अश्वशिला कैप्सूल को खाना खाने के बाद ही दूध के साथ लेने का सलाह दिया जाता है क्योंकि खाली पेट में हो सकता है ये गर्म करें इसलिए ज्यादातर दवाएं आपको आपके वैध या चिकित्सक खाना खाने के बाद ही लेने की सलाह देते हैं।

ये भी पढ़ें:- सिंगी चिकित्सा क्या है कैसे काम करता है

निष्कर्ष

ऊपर बताए गए सभी जानकारी हमने अपना अनुभव के आधार पर लिखा है आप इसे अपनाने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर लें और किसी भी तरह के दवाओं को खाने से पहले भी चिकित्सक के निर्देशानुसार ही होने चाहिए क्योंकि सभी लोगों की प्रकृति अलग-अलग होती है किसी की वात किसी की कफ एवं किसी की पित्त प्रकृति होती है और इसी हिसाब से दवाओं का डोज एवं समय को तय किया जा सकता है।

हमें उम्मीद है ये पोस्ट पतंजलि अश्वशिला के फायदे आपको काफी पसंद आया होगा और इससे आपके समस्याओं का समाधान खोजने में मदद मिली होगी लेकिन अगर अभी भी आपके पास कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट करके हमें बताएं।

By aayurvedick

नमस्ते मेरा नाम है सुशील और ये है aayurvedick.com यहां पर आपको आयुर्वेदिक सुझाव एवं आपके शरीर के फिटनेस से संबंधित वो सभी तरह की जानकारियां मिलने वाली है जिसे आप इंटरनेट पर ढूंढते हैं। अगर आप आयुर्वेद के दुनिया में कैरियर बनाना चाहते हैं तो इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!